October 30, 2020

कोरोना वायरस को लेकर अलर्ट , कमिश्नर ने दिए निर्देश 

:

 मंडलायुक्त श्री रणवीर प्रसाद ने कहा कि पूरे मंडल में किसी भी शिक्षण संस्था में पूर्व निर्धारित परीक्षाओं के अतिरिक्त किसी भी प्रकार के आयोजन की अनुमति नहीं है। स्कूलों में पीटीएम, फ््लावर शो या अन्य किसी प्रकार के समारोह की भी अनुमति नहीं है। उन्होंने कहा कि शिक्षण संस्थान, अन्य आवश्यक सेवाओं से जुड़े स्थलों में मानक अनुसार ही सफाई की जाए। दरवाजों के हैंडेल, टेबल टाप, कीबोर्ड आदि की समुचित सफाई किए जाने से कोरोना वायरस से बचाव किया जा सकता है।
मंडलायुक्त आज शाम अपने कार्यालय के सभागार में आउट ब्रेक रिस्पांस कमेटी की बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। उन्होंने कहा कि पूरे मंडल में मेडिकल पर्सनल्स की कमी नहीं होने दी जाएगी और कोरोना वायरस की जांच के लिए समुचित व्यवस्था कर ली गई है। मंडल के चारों जिलों में आपसी समन्वय से कोरोना के संदिग्ध लोगों की जांच आदि की प्रक्रिया अपनाई जा रही है, किसी प्रकार का कोई भ्रम नहीं है। उन्होंने अपील की है कि अफवाहों पर ध्यान न दें और घबराएं बिल्कुल भी नहीं।
श्री रणवीर प्रसाद ने ग्राम पंचायत स्तर पर कोरोना के प्रति जागरूकता बढ़ाने के लिए किए जा रहे उपायों की समीक्षा करते हुए बताया कि प्रत्येक ग्राम पंचायत पर कोरोना से जुड़ी जानकारियां देने के लिए एक होर्डिंग लगाई जा रही है। साथ ही ग्राम पंचायत स्तर पर निगरानी कमेटियां भी बनाई जा रही हैं ताकि आपसी समन्वय बना रहे और ग्रामीण क्षेत्रों में भ्रम उत्पन्न न हो। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में जागरूकता बढ़ाने के लिए ग्राम प्रधान को नोडल अधिकारी बनाया जाएगा।
बैठक में उन्हें अवगत कराया गया कि कोरोना वायरस से सम्बंधित जानकारियों वाले पोस्टर और हैंडबिल शिक्षा संस्थानों में लगाए जाने की शुरुआत कर दी गई है। उन्होंने शिक्षा विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे निजी प्राइमरी और अन्य स्कूलों से सम्पर्क करें और पीटीएम आदि के आयोजनों को पूरी तरह से बंद कराएं। उन्होंने निर्देश दिए कि जिन शिक्षा संस्थानों के लिए शासन स्तर से स्पष्ट निर्देश अभी तक प्राप्त नहीं हुए हैं, वे विभाग शासन से इस सम्बंध में तत्काल पत्र व्यवहार कर दिशा निर्देश प्राप्त करने में किसी प्रकार की कोताही न करें।
मंडलायुक्त को बैठक में आईटीबीपी के चिकित्सा अधिकारी ने अवगत कराया कि उनके जवान जो बाहर से आए हैं, उनके लिए अलग से बैरक निर्धारित कर दी गईं हैं। उन्हें निर्धारित समयावधि के लिए उन बैरकों में रखा जा रहा है। इसी प्रकार वायु सेना के चिकित्सा अधिकारी ने उन्हें अवगत कराया कि अभी तक सेना परिसर में कोई संदिग्ध मरीज़ नहीं मिला है लेकिन फिर भी सतर्कता बरती जा रही है। बैठक में बरेली के निजी मेडिकल कालेजों के प्रतिनिधियों ने बताया कि उनके संस्थानों में भी कोरोना से निपटने के लिए समस्त व्यवस्थाएं हैं। बैठक में शिक्षा, पर्यटन, स्वास्थ्य, पुलिस, परिवार कल्याण, रेलवे, सेना, आईटीबीपी सहित अन्य विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

: