October 30, 2020

किसानों की समस्याओं के समाधान को प्राथमिकता दी जाए: जिलाधिकारी

:

जिलाधिकरी श्री नितीश कुमार ने कहा कि किसान   सम्मान निधि में डेटा फीडिंग में यदि कहीं कोई समस्या आ रही है तो उसके समाधान के लिए पूरे जनपद में अभियान चलाया जा रहा है। उन्हांेंने किसानों का आह्वान किया कि जो किसान इस निधि से छूट गए हैं, वे अपना विवरण जल्द से जल्द फीड करवा दें। उन्हांेने कहा कि जिस किसान का भी डेटा मिसमैच हो गया है, उसे दूर करने के लिए ग्राम स्तर पर कर्मचारियों को लगाया गया है। उन्हांेने यह भी कहा कि जिन किसानों ने अभी तक केसीसी कार्ड नहीं बनवाया है, वह बनवा लें और एक ही कार्ड बनवाएं ताकि कम्प्यूटर में डेटा फीडिंग में समस्याएं न आएं। इसके लिए विकास भवन में भी दो कर्मचारियों की तैनाती कर दी जाएगी ताकि जो किसान विकास भवन से अपने कागजात बनवा सकते हैं, वे यहां से बनवा लें।
जिलाधिकारी आज आईवीआरआई में किसान दिवस को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने किसानों की इस शिकायत पर कि बैंक से ऋण की अदायगी के बाद भी खसरा खतौनी पर से ऋण की इंट्री काटी नहीं जाती है, उन्होंने सम्बंधित बैंक अधिकारी को निर्देश दिए कि वह किसानों का नाम आॅनलाइन भेजें और तहसील प्रशासन को अवगत कराएं। किसानों की इस समस्या के समाधान के लिए यदि जरूरत पड़े तो एक साफटवेयर भी तैयार करा लें ताकि इन लोगों को यह समस्या न आए। किसानों के कहने पर कि जनधन खातों में अधिकतम दस हजार तक का ही लेन देन संभव है, जिलाधिकारी ने कहा कि यदि संभव है तो जो किसान इच्छुक हों, उनके केवाईसी भरवाकर खातों को बचत खातों में बदल दिया जाए।
श्री नितीश कुमार ने नलकूपों की मरम्मत के लिए निर्देश दिए कि स्थलीय निरीक्षण कर इसका समाधान इसी वित्तीय वर्ष में कराया जाए। दिन में सिंचाई के लिए बिजली की आपूर्ति पर भी जिलाधिकारी ने एक्सीएन से कहा कि वह इस सम्बंध में जो भी संभव हो कार्रवाई कर अवगत कराएं। नहर में टेल तक पानी पहुंचाने के सम्बंध में उन्होंने कहा कि नहरों की सफाई के कार्य का भी स्थलीय निरीक्षण कर उन्हें रिपोर्ट किया जाए। उन्होंने यह भी कहा कि धान खरीद केंद्रांे को उन्हीं स्थानों पर बनाया जाए जहां गांव के लोग आते जाते हैं, या जहां जाना सुविधाजनक है। ऐसे स्थानों पर न बनया जाए जहां किसानों के लिए जाना दुरूह हो। उन्होंने किसानों को भरोसा दिलाया कि उनकी किसी भी समस्या के समाधान के लिए कृृत संकल्पित है। किसान दिवस में मुख्य विकास अधिकारी श्री चंद्र मोहन गर्ग के अलावा कृृषि विभाग तथा अन्य सम्बंधित विभागों के अधिकारियों के अलावा बड़ी संख्या में किसान आए थे।

: